Skip to content

Binary OptionS Trading क्या है? – In Hindi

binary-options-trading-hindi-binary-options-trading-kya-hai

दोस्तों आज के लेख का विषय है Binary Options Trading in Hindi, आज हम Binary Options Trading के बारे में हिंदी भाषा में जानेंगे| इस लेख की विषयवस्तु इस प्रकार है|

  • Binary Option Trading क्या हैं? | What is Binary Option Trading?
  • Binary Option का इतिहास | History of Binary Option?
  • Binary Option के प्रकार | Types of Binary Option?
  • क्या Binary Option Trading गैर-कानूनी हैं? | Is Binary Option Trading Illegal? 
  • क्या Binary Option Trading सुरक्षित है? | Is Binary Option Trading Safe? 
  • क्या मैं Binary Option Trading से पैसे कमा सकता हूँ? | Can I Make Money With Binary Option Trading?
  • Binary Option Trading कैसे करें? | How to do Binary Option Trading? 
  • Binary Option Trading के फायदे | Advantages of Binary Option Trading
  • Binary Option Trading के नुकसान | Disadvantages of Binary Option Trading
  • अक्सर पूछे गए प्रश्न | Frequently Asked Question

दोस्तों Binary Option Trading तेज़ी से लोकप्रिय होता जा रहा है और बहुत सारे लोग इसके द्वारा अच्छा ख़ासा लाभ अर्जित कर रहे हैं| यदि आप भी Binary Option Trading शुरू करने की सोच रहे हैं तो निवेश करने से पहले आपको इसके मूल भूत सिद्धांतो, लाभ और जोखिम की सम्पूर्ण जानकारी रखनी चाहिए|

ये कुछ कुछ Share Market में पैसा लगाने के जैसा है लेकिन जहाँ शेयर के भावो में हलचल बहुत तेज़ नहीं होती उसके उलट Binary Option में कीमते तेज़ी से बदलती है वो भी सेकण्ड्स के अंतराल पर|

Binary Option Trading में सबकुछ आपके सही अनुमान लगाने पर निर्भर करता है यदि आपने सही अनुमान लगाया तो लाभ अर्जित करेंगे और यदि आपका अनुमान गलत हुआ तो आप निवेश की गयी राशि से हाथ धो बैठेंगे|

चूंकि Binary Option Trading बहुत ही अनिश्चित है इसीलिए इसमें जोखिम की संभावना भी बहुत ही अधिक है लेकिन साथ ही ये आपको एक ही दिन में लाखो रूपये कमाने की शक्ति भी देता है| 

जाहिर है की Binary Option Trading में पैसा लगाने से पहले आपको सम्पूर्ण जानकारी ले लेनी चाहिए तो दोस्तों इस लेख में हम इसी बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे |

हम जानेंगे की वास्तव में Binary Option Trading क्या है और इसमें निवेश कैसे किया जाता है साथ ही इसके फायदे और नुक्सान के बारे में भी जानेंगे|

इसके साथ ही हम आपको Binary Option Trading के लिए उपयुक्त Best Binary Brokers और Apps की एक लिस्ट भी देंगे जिससे की आप सही, सुविधापूर्ण और न्यूनतम जोखिम के साथ Binary Option Trading कर सके| 

Binary Option Trading का एक साधारण आधार यह है की इसके अंतर्गत आने वाले एसेट की कीमत कब कम या ज्यादा होती है| आपको ट्रेड करते समय इसी का अनुमान लगाना होता है| यदि आपने सही अनुमान लगाया तो आप प्रॉफिट कमाते हैं अन्यथा आपके लगाये गए पैसे डूब जाते हैं| 

इस लेख में हम जानेंगे की Binary Option Trading क्या है? क्या Binary Option Trading से पैसे कमाना आसान है? इसमें कितना जोखिम है? और इसके फायदे क्या हैं?

इन सभी प्रश्नों के उत्तर के साथ साथ हम Binary Option Trading के बारे में विस्तार पूर्वक समझेंगे| इससे आपको यह तय करने में सहायता मिलेगी की क्या आपको Binary Option Trading करनी चाहिए या नहीं?

Binary OptionS Trading – In Hindi?

Binary Option Trading एक ऐसा शब्द है जो Financial Community में काफी लोकप्रिय हो गया है। हालांकि, इस प्रकार का व्यापार कोई नई बात नहीं है, क्योंकि लोग कई वर्षों से इस प्रकार के व्यापार का उपयोग कर रहे हैं।

पिछले कुछ वर्षों में इसने इतनी तेजी से आगे बढ़ने का कारण इसके ऑनलाइन पैसा कमाने के तरीके के रूप में Binary Option की लोकप्रियता के कारण है।

सबसे पहली बात जो आपको समझनी है वह यह की Binary Options क्या हैं? तो दोस्तों यह जान लीजिये की Binary Options वास्तव में अन्तर्निहित परिसंपत्ति यानी Share और Stock पर ही आधारित होते हैं|

जहाँ तक Share Market का सवाल है, इसमें किस एसेट को खरीदने बेचने का कोई निश्चित समय नहीं होता है, जबकि Binary Options का एक Expiry Time होता है| इस टाइम में ही आपको Binary Options को खरीदना या बेचना होता है|

आप किसी ट्रेड के शुरू होने और खत्म होने के बीच के समय में कभी भी किसी Binary Options को खरीद या बेच सकते हैं| उदाहरण के लिए मान लीजिये की USD / JPY Pair का Expiry Time 10 मिनट है और संकेतो के हिसाब से आपको लगता है की इसकी कीमत और बढ़ने वाली है तो आप इसे Buy करेंगे और यदि कीमत घटने वाली है तो आप Sell करेंगे| 

यदि ट्रेड एक्सपायर होने पर आपका अनुमान सही निकलता है तो आप लाभ अर्जित करते हैं| यह दोनों ही स्थितियों में सही अनुमान लगाने पर निर्भर है| कीमतें नीचे जाएँ या ऊपर जाएँ सही अनुमान लगाने पर आप हमेशा लाभ अर्जित करते हैं| यही इसकी सुन्दरता है| 

इसके विपरीत शेयर मार्केट में आपको कीमतें नीचे जाने पर नुकसान और ऊपर जाने पर फायदा होता है| इस प्रकार Binary Options में आपको केवल दो ही विकल्प मिलते हैं|

या तो आप Buy करते हैं या Sell करते हैं| इसके अलावा या तो आप लाभ अर्जित करते हैं या आपके पैसे डूब जाते हैं| क्योकि आपके पास केवल दो ही विकल्प होते हैं इसीलिए इसे Binary Options कहा जाता है|

Binary Options Trading निवेशकों को कई फायदे प्रदान करती है, जिनके बारे में हम इस लेख में बाद में चर्चा करेंगे। हालाँकि, इसके कुछ नुकसान भी हैं। हम इन पर भी गौर करेंगे और उन तरीकों को भी देखेंगे जिससे इनपर पर काबू पाया जा सकता है।

मुख्य कारणों में से एक Binary Options Trading निवेश या व्यापार करने का इतना लोकप्रिय तरीका बन गया है क्योंकि इसे शुरू करने के लिए बहुत Low Investment की आवश्यकता होती है।

कई Binary Option Trading Sites और Apps आपको केवल एक छोटी सी पूँजी जैसे की 100 या 200 रूपये से भी Binary Options Trading करने की अनुमति देते हैं।

Binary OptionS का इतिहास – In Hindi?

Binary Options सट्टा का एक रूप है जो पांच हजार से अधिक वर्षों से अस्तित्व में है। इसे पहली बार 3000 ईसा पूर्व मेसोपोटामिया में पेश किया गया था और इसे मानव जाति द्वारा बनाए गए पहले वित्तीय साधनों में से एक माना जाता है।

“Binary Options” नाम एक फ्रांसीसी व्यापारी द्वारा गढ़ा गया था जिसने Binary Options से पूंजी बनाने का फैसला किया था। वह इसे “Digital Options” के रूप में नाम देने के विचार के साथ आया था।

90 के दशक के अंत में Binary Options की लोकप्रियता बढ़ने लगी, जिसके बाद यह एक वित्तीय व्यापारिक साधन के रूप में तुरंत पहचानने योग्य हो गया।

आधुनिक समय में पहला Binary Options साल 2000 में संयुक्त राज्य अमेरिका में J.P. Morgon Bank द्वारा बनाया गया था। उस समय इसे “Digital Options” कहा जाता था। बाद में इस प्रकार का निवेश बहुत लोकप्रिय हो गया और “Binary” शब्द व्यापारियों के बीच एक सामान्य शब्द बन गया।

Binary Options के साथ काम करने वाला पहला Broker आईबीएफएक्स (IBFX) था जिसे 2006 में इज़राइल में स्थापित किया गया था। 2011 में, कंपनी ने बहुत तेजी से लोकप्रियता हासिल की और साइप्रस में एक कार्यालय भी खोला।

इस कंपनी के पास उच्च स्तर की सुरक्षा है और इसकी निगरानी CySEC (साइप्रस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन) द्वारा की जाती है। मुख्य बात यह है कि Binary Options को उनके कार्य सिद्धांतों के कारण कम जोखिम वाले निवेश माना जाता है; वे कुशल, सुविधाजनक और विश्वसनीय हैं।

Binary OptionS के प्रकार – In Hindi?

Binary Options व्यापार के लिए सबसे लोकप्रिय वित्तीय उत्पाद हैं। वे एक सरल “हां या नहीं” प्रस्ताव पेश करते हैं – क्या एक अंतर्निहित परिसंपत्ति की कीमत एक निर्दिष्ट समय पर पूर्व निर्धारित स्तर तक पहुंच जाएगी?

Binary Options सबसे लोकप्रिय Financial Assets (Currency, Stock, Comodities आदि) पर कारोबार किया जा सकता है और अंतर्निहित परिसंपत्तियों की एक विस्तृत श्रृंखला पर व्यापार के लिए उपलब्ध हैं। Binary Options की अनूठी विशेषता यह है कि वे Highly Leveraged हैं।

वास्तव में, आप 100 -200 रूपये की शुरुआती जमा राशि के साथ Binary Options Trading कर सकते हैं। इसका मतलब है कि ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको अपने खाते में बहुत अधिक धन की आवश्यकता नहीं है। 

इसलिए भले ही आप Binary Options की दुनिया में नए हों, फिर भी आप अपनी पहली जमा राशि के साथ जल्दी से शुरुआत कर सकते हैं।

यहाँ हम बात करेंगे Binary Options Trading के सबसे लोकप्रिय प्रकारों के बारे में और यह जानेंगे की यह कैसे काम करते हैं|

  • हाई/लो आप्शन | High/Low Options – यह सबसे बेसिक प्रकार के Binary Options होते हैं जहा आपको यह अनुमान लगाना होता है की दिए गए Trading Time के अन्दर किसी एसेट की कीमत उपर जायेगी या नीचे जायेगी यदि आप कीमतों के ऊपर जाने का अनुमान लगते हैं तो आप Buy/Call करेंगे और यदि कीमतें नीचे जाने वाली हैं तो आप Sell/Put करेंगे|
  • टच / नो टच आप्शन | Touch / No Touch Options – Touch / No Touch Option में आपका ब्रोकर एक Price Point सेट करता है यह कीमतों के बढ़ने या घटने के अनुमान पर तय किया जाता है| एक बार जब ब्रोकर प्राइस पॉइंट सेट कर देता है तो आपको यह अनुमान लगाना होता है की ट्रेड की समाप्ति पर कीमतें ब्रोकर द्वारा सेट किये गए प्राइस पॉइंट को टच कर पाएंगी की नहीं| यदि आप अनुमान लगाते हैं की कीमतें प्राइस पॉइंट तक पहुँच जायेंगी तो आप टच करेंगे और यदि नहीं तो आप नो टच करेंगे| 
  • बाउंड्री या रेंज आप्शन | Boundary or Range Options – Boundary or Range Option में आपको यह अनुमान लगाना होता है की एसेट की कीमत एक Price Range में ही रहेंगी और इसके बाहर नहीं जायेंगी| इस प्रकार आप एक Highest Price Point और एक Lowest Price Point सेट करते हैं और उम्मीद करते हैं की कीमतें इस रेंज के भीतर ही रहे| यदि कीमतें इससे बाहर होती हैं तो आप पैसे गवां देते हैं|
  • स्प्रेड आप्शन | Spread Options – Spread Options टच आप्शन पर ही आधारित होते हैं,  लेकिन इसमें आपको यह अनुमान लगाना होता है की एसेट की कीमत ब्रोकर द्वारा सेट किये गए Price Point से आगे जाएँगी या नहीं|
  • पेअर आप्शन | Pair Option – Pair Options एक नए प्रकार के Binary Options हैं जिसमे आपको यह अनुमान लगाना होता है की एसेट के पेअर में से कौन सा ज्यादा बेहतर प्रदर्शन करने वाला है? उदाहरण के लिए यदि आप USD/AUD पेअर का चुनाव करते हैं तो आपको यह अनुमान लगाना होगा की Trade Expire होने पर USD और AUD में से कौन ज्यादा रिटर्न देगा|
  • लैडर आप्शन | Ladder Options – यह एक बहुत ही अलग प्रकार का आप्शन हैं जिसमे ब्रोकर द्वारा 5 या 6 Price Point सेट किये जाते हैं जो की सामान दूरी पर होते हैं| आपको इनमे से किसी एक प्राइस पॉइंट को सेलेक्ट करके यह अनुमान लगाना होता है की एसेट की कीमत इस प्राइस पॉइंट से ऊपर जायेगी या नहीं| यदि कीमत नीचे जा रही है तो आपको करेंट प्राइस से नीचे की और के प्राइस पॉइंट को सेलेक्ट करना होता है और यदि कीमतें ऊपर जा रही हैं तो आपको करंट प्राइस से ऊपर के प्राइस पॉइंट को सेलेक्ट करना होता है| उदाहरण के लिए यदि आप करंट प्राइस पॉइंट से ऊपर की तीसरे प्राइस पॉइंट को सेलेक्ट करते हैं और अगर एसेट की कीमत इससे ऊपर जाती है तो आपको ज्यादा प्रॉफिट होता है| अगर एसेट की प्राइस उससे कम भी रहती है लेकिन करंट प्राइस से नीचे नहीं जाती है तो भी आप कुछ प्रॉफिट अर्जित करते हैं| लेकिन नीचे जाने की स्थिति में आप पैसे गवां देते हैं| इसी प्रकार यां करंट प्राइस पॉइंट के नीचे के प्राइस पॉइंट को भी सेलेक्ट कर सकते है| लैडर आप्शन की विशेषता यह है की आप इसमें 1000% तक लाभ अर्जित कर सकते हैं|

ऊपर दिए गए सभी आप्शन के अलावा Binary Option को ट्रेडिंग टाइम के आधार पर भी विभाजित किया जाता है जो इस प्रकार हैं|

  • लॉन्ग टर्म आप्शन | Long Term Option – लॉन्ग टर्म आप्शन में ट्रेड का समाप्ति समय कुछ सेकंड या मिनट्स न होकर कई घंटे, एक दिन, एक सप्ताह, या कभी कभी एक महिना हो सकता है|
  • शार्ट टर्म आप्शन | Short Term Options – शार्ट टर्म आप्शन में ट्रेड का एक्सपायरी टाइम 30 सेकेंड से लेकर 10 मिनट तक का हो सकता है|
  • 60 सेकंड आप्शन | 60 Second Option – जैसा की नाम से ही ज़ाहिर है की इन आप्शन में ट्रेड समाप्ति का समय केवल 60 सेकंड का होता है| और इसमें आपको केवल High/Low Option ही मिलते हैं|

क्या Binary OptionS Trading गैर-कानूनी हैं? – IN HINDI?

Binary Options, गैर कानूनी हैं या नहीं? इस सवाल का जवाब हाँ भी है और नहीं भी क्योंकि यह पूरी तरह आपके देश के कानून पर निर्भर करता है|

लेकिन प्रश्न यह है की किसी भी देश में Binary Options को आखिर क्यों Illegal घोषित किया गया है? तो उत्तर यह है की यह Binary Options System के काम करने के तरीके के कारण है।

क्योंकि आप  एक Financial Market पर व्यापार करने के बजाय, एक भविष्यवाणी पर व्यापार कर रहे हैं। भविष्यवाणी एक ऐसी घटना पर आधारित है जो भविष्य में होने वाली है, जैसे चुनाव या मौसम। घटना का परिणाम दो परिणामों में से एक होगा: हाँ या नहीं।

और अपनी भविष्यवाणी करने के लिए पैसे का उपयोग करने के बजाय, आप Binary Options, खरीदने के लिए पैसे का उपयोग करते हैं।

बात यह है कि, आपके लिए इस लेन-देन से पैसे कमाने का कोई तरीका नहीं है, जब तक कि आपके द्वारा पूर्वानुमानित घटना घटित न हो जाए।

इसका मतलब यह है कि आप या तो इससे पैसे कमाएंगे या इसमें जो कुछ भी आप डालते हैं वह सब कुछ खो देंगे। और अगर आप नहीं जानते कि परिणाम क्या होगा, तो आप यह नहीं जान पाएंगे कि आप अपनी खरीदारी करने और अपना पैसा कम करने से पहले जीतेंगे या हारेंगे।

इसका मतलब यह है कि कभी-कभी Binary Options, खरीदना अवैध होता है। क्योंकि या शेयर और स्टॉक कमोडिटीज मार्केट के नियमो के बजाय एक प्रकार का सट्टा है|

USA में यह वैध हैं लेकिन Binary Options Trading करने के लिए आपको सरकार और नियामक संस्थाओं द्वारा चयनित और नियमित प्लेटफार्म का ही चुनाव करना होगा|

अगर हम भारत की बात करें तो RBI और SEBI ने इसे अवैध घोषित किया हुआ है और यह निवेशकों के हित में ही है| लेकिन अगर आप फिर भी Binary Options Trading करना चाहते हैं तो ऐसा करने के लिए आप को किसी विदेशी Binary Options Trading प्लेटफार्म का चुनाव करना होगा, क्योंकि भारत में ऐसा कोई Binary Options Trading प्लेटफार्म उपलब्ध नहीं है| 

यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है की यदि आप किसी विदेशी ट्रेडिंग प्लेटफार्म का चुनाव करते हैं तो ट्रेड करते समय आपको फोरेक्स एक्सचेंज की कीमत चुकानी पड़ सकती है| क्योंकि आपके पैसे दूसरी विदेशी मुद्रा में परिवर्तित किये जाते हैं| 

क्या Binary OptionS Trading सुरक्षित है? | Is Binary OptionS Trading Safe – In Hindi?

Binary Options जुआ का एक रूप है। वे भारत में कानूनी नहीं हैं, लेकिन उन्हें फॉरेन एक्सचेंज मार्केट में खेला जा सकता है, और यहीं से वे लोकप्रिय हो गए हैं। यह प्रश्न  की “क्या बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग सुरक्षित है?” उस प्रणाली की सुरक्षा को संदर्भित करता है जिसका उपयोग आदेशों को दर्ज करने के लिए किया जाता है, न कि यह नैतिक या कानूनी है।

अधिकांश Binary Options ब्रोकर सरकारी विनियमन से बचने के लिए दूसरे देशो में स्थित हैं। इसका मतलब है कि उनकी गतिविधियों की सीधे तौर पर निगरानी करने वाला कोई अधिकार नहीं है।

बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग सुरक्षित नहीं है क्योंकि संभवत: सैकड़ों-हजारों पीड़ित हैं जिन्होंने यहां पाई गई लोकप्रिय ऑनलाइन ट्रेडिंग साइटों पर भरोसा करके अपनी मेहनत की कमाई खो दी है।

इन साइटों में से अधिकांश व्यवसाय में बने रहने में सक्षम होने का कारण यह है कि वे हर साल उन भोले-भाले पीड़ितों से अरबों डॉलर कमा सकते हैं जो अपने पैसे से उन पर भरोसा करते हैं।

समस्या यह है कि वहाँ बहुत सारे घोटाले हैं और जब आप अपना पैसा खो देते हैं, तो इसके लिए आपके अलावा किसी और को दोषी नहीं ठहराया जाएगा, सिवाय इसके कि आप इसके बारे में इतने मूर्ख और लापरवाह हैं।

अधिकांश स्कैमर निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा करते हैं जिसमें बहुत कम जोखिम शामिल होता है लेकिन सच में; यह सब झूठ है! सच्चाई यह है कि Binary Options Trading में विफलता का बहुत अधिक जोखिम होता है और यही कारण है कि अधिकांश Binary Options Trader इस घोटाले से भरे उद्योग में अपना सारा पैसा खो देते हैं।

क्या मैं Binary OptionS Trading से पैसे कमा सकता हूँ? | Can I Make Money With Binary OptionS Trading – In Hindi?

हाँ अगर आप एक सही रणनीति के साथ ट्रेडिंग करते हैं तो इसके अलावा आपको शेयर, स्टॉक और कमोडिटीज मार्केट पर पैनी नज़र रखनी होगी क्योकि Binary Options इससे सीधे तौर पर प्रभावित होते हैं|

Binary Option Trading में आप हमेशा तो जीत नहीं सकते लेकिन यदि आपकी जीत हार में जीतने का औसत ज्यादा है तो आप इसमें प्रॉफिट बना सकते हैं|

Binary Option Trading में एक ही रणनीति हमेशा काम नहीं करती है इसलिए आपको समय समय पर अपनी रणनीति बदलने की आवश्यकता होती है| यदि आप एक ही रणनीति को लेकर चले तो हो सकता है की कुछ समय तक आपको फायदा हो लेकिन फिर आपको बड़ा नुकसान भी हो सकता है|

आपको ट्रेडिंग के लिए सही समय का चुनाव करने की भी आवश्यकता है और स्वयं पर नियंत्रण रखने की भी, आप पूरे दिन में एक सही समय का चुनाव कर सकते है और केवल कुछ समय तक ही ट्रेडिंग करें|

एक निश्चित समय निर्धारित करें और इस समय के बीच ही ट्रेडिंग करें आप जीते या हारे आपको इस समय के बाहर ट्रेडिंग नहीं करनी है| इस प्रकार आप अपने आप को एक नियम में बांधते है और इस कारण आप बड़े जोखिम लेने और नुकसान से बच जाते हैं|

आप उन वादों और विज्ञापनों पर बिलकुल भी विश्वास न करें जिनमे किसी को Binary Option Trading से बहुत ही कम समय में अमीर बनते हुए दिखाया जाता है| यह पूरी तरह से झूठ है और USA जैसे देशों में तो इस प्रकार के विज्ञापनों पर कड़ा प्रतिबंध है|

इस बात का ध्यान रक्खे की यदि Binary Option Trading करते समय आपको नुकसान होता है या आपके साथ किसी प्रकार फ्रॉड होता है तो सरकार या कोई नियामक संस्था आपकी कोई मदद नहीं कर पाएगी, और अपने पैसो को खोने की पूरी जिम्मेदारी आपकी होगी|

Binary OptionS Trading कैसे करें? | How to do Binary OptionS Trading – In Hindi? 

Binary Options Trading करना बहुत ही आसान है और आप केवल अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप का प्रयोग करके आसानी से ट्रेड कर सकते हैं| Binary Option Trading को कुछ स्टेप्स पमे पूरा किया जाता है जो इस प्रकार है|

  • स्टेप 1 –  एक ब्रोकर प्लेटफार्म का चुनाव करें | Select a Broker Platform – आपको एक Binary Options Broker का चुनाव करने की आवश्यकता है| यह कुछ ऐसी साईट और ऐप्स है जो आपको सीधे Binary Options Market मे एंट्री देते हैं| चुनाव करने से पहले यह जांचने की आवश्यकता है की आप जिस ब्रोकर प्लेटफार्म का चुनाव कर रहे हैं वो किसी नियामक संस्था या सरकार द्वारा नियमित हो| इस प्रकार आप किसी प्रकार के धोखे से सुरक्षित रहते है|
  • स्टेप 2 –  एक नियमित बाजार चुने | Select An Instrument/Market – आपको एक नियमित बाज़ार का चयन करने की आवश्यकता है| आप स्टॉक, फोरेक्स, गोल्ड, शेयर और क्रिप्टोकरेंसी में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं| आपको ऐसे एसेट का चुनाव करने की आवश्यकता है जिसमे रिटर्न की संभावनाएं ज्यादा है|
  • स्टेप 3 – ट्रेडिंग का समय तय करें | Select a Trading Time – आपको एक समय नियत करने की आवश्यकता है| आप जो भी समय तय करें केवल उसी समय में ही ट्रेडिंग करें| अपने लिए ट्रेडिंग करने का एक समाप्ति समय तय करें और इस समय के बाद ट्रेडिंग न करें| भले ही आप जीते या हारें आपको इस तय समय से ज्यादा ट्रेड नहीं करना है| ज्यादातर ट्रेड्स का समाप्ति समय 30 सेकंड से 60 सेकंड तक होता है| इसलिए आप यदि केवल 15 मिनट तक भी ट्रेड करते हैं तो आप कई बार दावं लगा सकते हैं, और एक औसत के तौर पर प्रॉफिट अर्जित कर सकते हैं|
  • स्टेप 4 – अपने ट्रेड का आकर तय करें | Set Your Size of Trade – अपने ट्रेड का आकर तय करना बहुत ही महत्वपूर्ण है| आपको यह तय करना है की हर एक ट्रेड केलिए आप कितने पैसो का दावं लगायेंगे| आपको कभी भी किसी भी ट्रेड में दिन के लिए तय किये गए पूरे पैसे नहीं लगाने हैं| छोटे- छूते दावं खेले और यदि आप लगातार 3 बार हार जाते हैं तो उसी समय ट्रेडिंग बंद कर दें|
  • स्टेप 5 – एक आप्शन चुने | Select an Option – अब आपको एक ऐसे आप्शन का चुनाव करने की आवश्यकता है जिसमे आपको जितने की ज्यादा सम्भावना लगती है| किसी भी ट्रेड को तुरंत ही प्लेस न करें और यदि ट्रेड 60 सेकेंड का है तो पहले 15 सेकंड तक केवल यह देखें की चार्ट में ग्राफ किधर जा रहा है| इसके बाद ही यह तय करें की आपको Buy करना है या Sell|

Binary OptionS Trading के फायदे – In Hindi

यदि आप Binary Options Trading करना चाहते हैं तो यह शुरुआत में आपको आसान लग सकता है| लेकिन कई प्रकार की रणनीतियां को समझना और सीखने के लिए बहुत कुछ होना इसे थोडा कम आकर्षक बना सकता है|

यदि आप इसके बारे में गंभीर हैं तो आपको बहुत कुछ सीखने के लिए तैयार रहना होगा| जहाँ तक इसके फायदों की बात है है यहाँ हम कुछ पॉइंट्स के बारे में जानेंगे जो इसे एक आकर्षक निवेश बनाते हैं|

आसान ट्रेडिंग | Simple Trading – Binary Options Trading करना बहुत ही आसान है और आप केवल अपने स्मार्टफोन पर एक एप को इनस्टॉल करके बस कुछ ही क्लिक में एक ट्रेड को पूर्ण कर सकते हैं| आपको क्या करना है यह आपको पहले से ही पता है और क्योंकि इसमें हार और जीत बस दो ही विकल्प हैं| इसके अलावा इसमें एक निश्चित समाप्ति समय होता है जिसके बाद आपको तुरंत ही पता चल जाता है की आपकी जीत हुयी या हार|

निश्चित जोखिम | Fixed Risks – आप पहले से ही जानते हैं की आप क्या खो सकते हैं इसके अलावा आपके पास बहुत से विकल्प होते हैं जिनमे से आप अपने लिए उपयुक्त विकल्प का चुनाव कर सकते हैं जिसमे जोखिम कम हो| 

व्यापार नियंत्रण | Trade Control – ट्रेड में होने वाले फायदे और नुकसान की जानकारी पहले से ही आपके पास होती है इसीलिए आप आसानी से अपने फण्ड को मैनेज कर सकते हैं और क्योकि परिणाम तुरंत ही प्राप्त हो जाते हैं तो इसलिए आपको ज्यादा समय तक इस संशय में रहने की आवश्यकता नहीं है की की आपके किये गए निवेश का क्या होगा| इसके अलावा कुछ आप्शन ट्रेडिंग प्लेटफार्म आपको स्टॉप लॉस की सुविधा देते हैं जिससे की आपका नुकसान सीमित हो जाता है|

प्रॉफिट पोटेंशियल | Profit Potential – अन्य प्रकार के ट्रेड के मुकाबले Binary Trading में Return ज्यादा आकर्षक हैं| कुछ ब्रोकर आपको अलग अलग आप्शन के द्वारा 90% से 1000% तक के फायदे का वादा करते हैं| यदि आप कम समय में ज्यादा प्रॉफिट अर्जित करना चाहते हैं तो Binary Options आपके लिए काम की चीज हो सकती है|

चुनाव की स्वतंत्रता |  Freedom of Selection – आप किसी भी प्रकार के ट्रेडिंग आप्शन का चुनाव कर सकते हैं| छाए वो शेयर हो, गोल्ड हो, बांड्स हो, फोरेक्स हो, या क्रिप्टोकरेंसी| आप किसी भी आप्शन में ट्रेड कर सकते हैं|

ट्रेडिंग का समय | Trading Time – Binary Options Trading के लिए बाज़ार हमेशा ही खुले रहते हैं क्योंकि 24 घंटे के समय में दुनिया में कहीं न कहीं स्टॉक मार्केट खुले रहते हैं| Binary Options Trading आपके लिए पूरी दुनिया के बाज़ार में ट्रेड करने की सुविधा देता है इसलिए आप दुनिया भर के किसी भी व्यापारी समूह का हिस्सा बन सकते हैं| रियल टाइम चार्ट हमेशा उपलब्ध रहते हैं और आप अपने नियत समय पर ट्रेडिंग करने के लिए स्वतंत्र होते हैं|

Binary Options Trading के नुकसान | Disadvantages of Binary Options Trading – In Hindi

दोस्तों, Binary Options Trading के ऊपर दिए गए फायदों के साथ इससे जुड़े हुए कुछ स्पष्ट जोखिम हैं जिनके बारे में आपको जानना चाहिए|

हार का औसत | Loss Average – Binary Options Trading में या तो आप जीतते हैं या हारते हैं| इसमें बीच का कोई विकल्प नहीं होता है या तप आपको प्रॉफिट मिलता है या तो आप अपने लगाए गए पैसे गवां देते हैं| इसलिए आपको एक रणनीति के साथ अपनी जीत का औसत अधिक रखना होता है| लेकिन दुर्भाग्य से ज्यादातर ट्रेडर्स ऐसा नहीं कर पाते और इसी कारण इसमें पैसे गवाँने का जोखिम बहुत ही ज्यादा है|

लिमिटेड ट्रेडिंग टूल्स | Limited Trading Tools – वैसे तो बहुत से ट्रेडिंग टूल्स उपलब्ध हैं लेकिन सबमे एक सी क्षमताएं नहीं होती है| और न सभी प्लेटफॉर्म्स सभी प्रकार के आप्शन प्रोवाइड करते हैं| वैसे तो अधिकाँश प्लेटफार्म आपको एडवांस चार्टिंग, और एनालिसिस सुविधा प्रदान करते हैं, लेकिन कभी कभी ये भी ट्रेडर्स के लिए काफी नहीं होते हैं| सौभाग्य से अन्य कई ऑनलाइन सोर्सेज से आप इन्हें प्राप्त कर सकते हैं|

सरकारी नियमन | Government Regulation – कई देशो में Binary Options Trading को बैन किया गया है और कई में कठोर नियम भी बनाये गए हैं| भारत जैसे देश में जहाँ यह पूरी तरह बैन हैं वहां आपको ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता है क्योकि किसी भी बाइनरी ट्रेडिंग प्लेटफार्म को सरकार या नियामक संस्था नियमित नहीं करती है|

धोखाधड़ी | Fraud – Binary Options Trading के लिए बेस्ट प्लेटफार्म और टूल्स का चुनाव करते समय आपको बहुत से ऐसे प्लेटफार्म मिलेंगे जो की आपको ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट देने और आसान जीत का वादा करेंगे लेकिन इनमे से कई प्लेटफार्म वास्तव में आपको धोखा देने के लिए बनाये गए हो सकते हैं|

जिसमे आप अपने पैसे खो सकते हैं| इसके अलावा आपको कई ऐसे ब्रोकर भी मिलेंगे जो कम पैसो में आपको ज्यादा मुनाफा देने की पेशकश करेंगे, ऐसे ब्रोकर्स से आपको सावधान रहने की आवश्यकता है|

Binary Options Trading का भविष्य | Future of Binary Options Trading – In Hindi

Binary Options एक नया इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट है, जिसे पहली बार 2008 में जनता के लिए पेश किया गया था। कम समय में, वे कई व्यापारियों और निवेशकों के हित को पकड़ने में कामयाब रहे हैं, जिन्होंने इन वित्तीय साधनों को लाभ उत्पन्न करने का एक प्रभावी और विश्वसनीय तरीका पाया है।

Binary Options के बारे में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें या तो आपको लाभ होता है या पा पैसे खो देते हैं। इसका मतलब यह है कि जब आप किसी परिसंपत्ति पर एक Binary Option का व्यापार करते हैं, तो आपको यह अनुमान लगाना होगा कि किसी निश्चित समय सीमा में इसकी कीमत बढ़ेगी या घटेगी।

यह किसी भी समय सीमा में हो सकती है, मिनटों से लेकर महीनों तक। इस तरह की व्यापारिक शैली का प्रमुख लाभ यह है कि फॉरेन एक्सचेंज, स्टॉक या कमोडिटीज जैसे अन्य प्रकार के निवेशों की तुलना में लाभ की संभावना काफी अधिक है।

जैसा कि आप उपरोक्त परिभाषा से देख सकते हैं, यह समझना मुश्किल नहीं है कि Binary Option व्यापारियों और निवेशकों दोनों के लिए इतने आकर्षक क्यों हैं। यदि आप अपने आप से पूछते हैं कि 2021 और उसके बाद बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग का भविष्य क्या है, तो आपको पता होना चाहिए कि कई देशों में कानून में महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं जो कि बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग उद्योग को बहुत अधिक प्रभावित करेंगे।

इसका मतलब यह भी है कि नए देश उन देशों की सूची में शामिल हो जाएंगे जहां कानूनी रूप से Binary Option Trading करना संभव है। जैसे-जैसे अधिक देश बाइनरी ऑप्शन ट्रेडिंग को पूरी तरह से सुरक्षित और वैध व्यापार की मान्यता देंगे वैसे वैसे इसका प्रयोग और अधिक बढेगा ऐसा हमारा विश्वास है|

अक्सर पूछे गए प्रश्न | Frequently Asked Questions

अभिषेक

आपकी प्रतिक्रिया भेजें

Your email address will not be published. Required fields are marked *